हमारे निदेशक

डॉ वी वी श्रीनिवासन, वर्तमान में उत्‍कृष्‍ट वैज्ञानिक, इसरो दूरमिति, अनुवर्तन तथा आदेश संचारजाल के छटवें निदेशक हैं । आपका जन्‍म फरवरी, 1962 में तमिलनाडु के ईरोड में हुआ । आपकी स्‍कूल शिक्षा श्री वेंकटेश्‍वर हाई स्‍कूल, वेल्‍लोर तमिलनाडु में हुई । आप माइक्रोवेव इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स में स्‍नातकोत्‍तर डिग्री प्राप्‍त करने दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय गये और आपने 1986 में माइक्रोवव अभियंत्रिकी में एम–टेक की डिग्री प्राप्‍त की । तत्पश्‍चात, आपने इसरो उपग्रह केन्‍द्र, बेंगलूर के संचार प्रणाली समूह में कार्यभार ग्रहण किया जहॉ आप उपग्रहों, वायुवाहित राडारों एवं भू-केन्‍द्रों के लिए ऐंटेनाओं के विकास कार्य में संलग्‍न रहे । आपके कार्य क्षेत्र में चरणवद्ध व्‍यूह ऐंटेनाओं, माइक्रोस्ट्रिप ऐंटेना और व्‍यूह, उच्‍च दक्षता- लघु परावर्तक ऐंटेना, ब्रॉडबैंड ऐन्‍टेना तथा परावर्तक ऐंटेनाओं के लिए भरण प्रणा‍लियों की डिजाइन एवं विकास शामिल है । आपके द्वारा डिजाइन किये गए दोहरे वि‍त्‍तीय ध्रुवीय चरणबद्ध व्‍यूह ऐन्‍टेना उच्‍च ऑकडा दर के प्रसारण के लिए अत्‍याधुनिक सुदूर संवेदन उपग्रहों में लगाकर भेजे गये हैं । डॉ वी वी श्रीनिवासन ने चन्‍द्रयान -1 मिशन के लिए स्‍थापित 32मी. गहन अंतरिक्ष नेटवर्क टर्मिनल के लिए किरणपुंज तरंगपथक प्रणाली की डिजाइन एवं प्राप्ति में भी महत्‍वपूर्ण योगदान दिया है । आपने फरवरी, 2017 में राजस्‍थान विश्‍वविद्यालय से बृहद भू-केन्‍द्र ऐन्‍टेना के क्षेत्र में पी एच डी की उपाधि प्राप्‍त की है । विभिन्‍न राष्‍ट्रीय/अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलनों तथा पत्र/पत्रिकाओं में आपका लगभग 100 तकनीकी शोधपत्र प्रकाशित हो चुके हैं । आपको बहुत से इसरो टीम पुरस्‍कार तथा राष्‍ट्रीय संस्‍थानों से अन्‍य पुरस्‍कार प्राप्‍त चुके हैं ।

<< पीछे जाए